हमारा प्रयास हिंदी विकास आइये हमारे साथ हिंदी साहित्य मंच पर ..

गुरुवार, 12 अगस्त 2010

रक्तदान मे डेरा सच्चा सौदा बेमिसाल ......(लेख)..............मोनिका गुप्ता

रक्तदान महादान होता है .. हमे रक्तदान जरुर करना चाहिए .. ये बाते आमतौर पर लोगो को जागरुक करने के लिए कही जाती है ताकि लोग इसकी जरुरत जाने और आगे आकर लोगो की जिंदगी बचाए ... लेकिन जहाँ एक लाख से ज्यादा लोग इक्ट्ठे हो और कतार मे इस विश्वास से लगे हो कि चाहे कुछ हो जाए ... रक्त देकर ही जाना है तो उन लोगो के इस जज्बे को क्या नाम देंगे. 

ये कोई कल्पना नही हकीकत है और यह बात सामने आई सिरसा के डेरा सच्चा सौदा मे जहाँ कल यानि 8 अगस्त रविवार को संत महाराज गुरमीत राम रहीम जी के जन्म माह के पावन उपलक्ष मे विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया. लगभग एक लाख से ज्यादा भक्तो ने ना सिर्फ इसमे हिस्सा लिया बलिक 43,732 यूनिट रक्त दान देकर एक नया इतिहास रच दिया.

 डेरा के प्रवक्ता पवन इंसा ने विस्तार से बताया कि अलग अलग राज्यो से 90 टीम रक्त लेने पहुँची और दो लाख स्कवेयर फीट मे बने सच खंड हाल मे 2500 पलंग लगाए गए. 7000 सेवादार, 50 चिकित्सक, 500 पैरामेडिकल स्टाफ के साथ साथ 200 काउंटर रजिस्ट्रेशन के लिए बनाए गए इतना ही नही जबरदस्त हूजूम देखते हुए सुरक्षा के कडे इंतजाम भी किए गए ताकि कोई अनहोनी होने पर निबटा जा सके.

सुबह ठीक सात बजे कैम्प का शुभारम्भ हुआ जोकि रात को दस बजे तक चला. लोगो मे रक्तदान के प्रति इतना जुनून इतना जुडाव किसी आश्चर्य से कम नही था.

वैसे ऐसा पहली बार नही हुआ. 7 दिसम्बर 2003 को शाह सतनाम जी धाम मे 15,432 यूनिट रक्त एकत्र किया गया था. 10 अक्टूबर 2004 को राजस्थान के गुरुसर मोडिया मे 17,921 यूनिट रक्त एकत्र किया गया. रक्तदान शिविर के लिए पहले से ही इनका नाम लिम्का बुक और गिनीज बुक आफ वर्ड रिकार्ड मे दर्ज है और कोई दो राय नही कि कल हुए इस विशाल रक्तदान कैम्प ने पिछ्ले सारे रिकार्ड तोड दिए है. इंडियन सोसाएटी आफ वर्ड ब्लड ट्रांसफ्यूजन एंड एम्यूनोहाईमोटोलाजी संस्था द्वारा भी प्रंशसा पत्र जारी किया गया है.

 

गौरतलब है कि डेरा सिर्फ रक्तदान मे ही नही बलिक समाज सेवा के अन्य क्षेत्रो मे और भी कई कीर्तिमान स्थापित कर चुका है जैसेकि पौधे लगाने मे इसने नया विश्व रिकार्ड रिकार्ड बनाया और तो और डेरा सच्चा सौदा की ग्रीन एस वेलफेयर के जांबाज अपने मे ही उदाहरण है किसी भी तरह की आपदा का मुँह तोड जवाब देने को तैयार रहते हैं. हाल ही मे आई बाढ मे इन लोगो का काम सराहनीय रहा.

इतना जोश, इतना उत्साह काबिले तारीफ है. अगर यही उत्साह आने वाले समय मे लोगो मे बरकरार रहा तो हमारा भारत देश हर क्षेत्र मे सबसे आगे होगा और दूसरे देश इसका अनुकरण करेगें.

1 comments:

TUSHAR ने कहा…

ram rahim singh ji aap mahan hai.